उत्तराखंड में कितने जिले हैं व उनके नाम 2022

उत्तर भारत में मौजूद उत्तराखंड (Uttarakhand) एक पर्वतीय राज्य है। काफी लंबे आंदोलन के पश्चात वर्ष 2000 में 9 नवंबर के दिन इस राज्य की स्थापना देश के 27वे राज्य के तौर पर की गई थी। आज हम इस लेख के माध्यम से उत्तराखंड में कितने जिले हैं व उनके नाम की सूची आपके साथ सांझा करेंगे।

बता दें इस राज्य को वर्ष 2006 तक उत्तरांचल के नाम से जाना जाता था। परंतु वर्ष 2007 में इसके नाम में परिवर्तन कर आधिकारिक तौर पर इसका नाम उत्तराखंड रखा गया। 

इस राज्य की सीमाएं नेपाल, तिब्बत, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश और दिल्ली जैसे राज्यों से लगती है। इस लेख में आज हम आपको बताएगे उत्तराखंड के सभी जिलो के नाम व उत्तराखंड में कितने मंडल है |

उत्तराखंड में कुल कितने जिले हैं ?

उत्तराखंड में कुल 13 जिले है | प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर उत्तराखंड दिल्ली और उत्तर प्रदेश से सटा हुआ एक राज्य है। इस राज्य में मौजूद धार्मिक स्थलों और असंख्य मंदिरों की वजह से देवभूमि भी कहा जाता है।

पर्यटन के उद्देश्य से या फिर चुनावी समय में लोग अक्सर इस राज्य में मौजूद जिलों के बारे में सुनते है। इस दौरान कई बार हमें यह भी पता चलता है कि उत्तराखंड में ऐसा भी जिला मौजूद है, जिसका नाम हमें पता नहीं होता है।

इसलिए हमें उत्तराखंड के सभी जिलों के नाम पता होना चाहिए। यह ना सिर्फ सामान्य जानकारी के लिए महत्वपूर्ण होते हैं बल्कि कभी अगर उत्तराखंड दर्शन करना है  तो यह उसके लिए भी महत्वपूर्ण होते हैं। उत्तराखंड में कुल 13 जिले हैं।

List of Uttarakhand Districts with Name [उत्तराखंड के सभी जिलो के नाम]

  1. अल्मोड़ा (Almora)
  2. बागेश्वर (Bageshwar)
  3. चमोली (Chamoli)
  4. चम्पावत (Champawat)
  5. देहरादून (Dehradun)
  6. हरिद्वार (Haridwar)
  7. नैनीताल (Nainital)
  8. पौड़ी गढ़वाल (Pauri Garhwal)
  9. पिथौरागढ़ (Pithoragarh)
  10. रुद्रप्रयाग (Rudraprayag)
  11. टिहरी गढ़वाल (Tehri Garhwal)
  12. ऊधम सिंह नगर (Udham Singh Nagar)
  13. उत्तरकाशी (Uttarkashi)

उत्तराखंड का सबसे बड़ा और छोटा जिला

उत्तराखंड का चमोली जिला क्षेत्रफल के नजरिए से 8300 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल के दायरे में फैला सबसे बड़ा जिला है। वहीं जनसंख्या की दृष्टि से देखा जाए तो उत्तराखंड का सबसे बड़ा जिला हरिद्वार है। हरिद्वार जिले की कुल जनसंख्या 18 लाख 90 हजार 422 है।

उत्तराखंड का चंपावत क्षेत्रफल के नजरिए से सबसे छोटा जिला है, जिसका कुल क्षेत्रफल 1766 वर्ग किलोमीटर है। वहीं जनसंख्या की दृष्टि से उत्तराखंड का सबसे छोटा जिला रुद्रप्रयाग है, जहां पर उत्तराखण्ड की कुल आबादी में से तकरीबन 242285 लोग निवास करते हैं।

उत्तराखंड में कौन सा जिला कब बना ?

उत्तराखंड राज्य बनने के बाद हर जिले की स्थापना किसी ना किसी वर्ष में की गई है। ऐसे में सामान्य जानकारी के लिए और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उत्तराखंड के सभी जिलों के स्थापना वर्ष के बारे में पता होना आवश्यक है। नीचे आपको उत्तराखंड के कौन से जिले की स्थापना कब हुई इसके बारे में भी बताया गया है। उत्तराखंड में कितने जिले हैं 2022 ?

वर्ष 2022 में उत्तराखंड में मौजूद कुल जिलों की संख्या 13 है। इन जिलों में देहरादून, पौड़ी, अल्मोड़ा, नैनीताल, टिहरी, पिथौरागढ़, उत्तरकाशी, चमोली, हरिद्वार, उधम सिंह नगर, रुद्रप्रयाग, चंपावत और बागेश्वर शामिल है।

उत्तराखंड में सर्वप्रथम देहरादून नामक जिले की स्थापना की गई थी। हालांकि वर्तमान में यह इस राज्य की राजधानी और एक मशहूर पर्यटन स्थल है। वर्ष 1997 में सबसे आखरी जिले यानी की बागेश्वर की स्थापना की गई थी।

क्रमांक  जिले का नाम  स्थापना वर्ष 
1. देहरादून: 1817
2. पौड़ी: 1840
3. अल्मोड़ा: 1891
4. नैनीताल: 1891
5. टिहरी: 1949
6. पिथौरागढ़: 1960
7. उत्तरकाशी: 1960
8. चमोली: 1960
9. हरिद्वार: 1988
10. उधमसिंह नगर: 1995
11. रुद्रप्रयाग: 1997
12. चम्पावत: 1997
13. बागेश्वर : 1997

उत्तराखंड में कितने मंडल है [Uttarakhand Mein Kitne Mandal Hai] ?

उत्तराखंड में 2 मंडल है। कुमाऊं मंडल और गढ़वाल मंडल। कुमाऊं मंडल की स्थापना वर्ष 1854 में की गई थी और इसका मुख्यालय नैनीताल है। वहीं गढ़वाल मंडल की स्थापना वर्ष 1969 में की गई थी जिसका मुख्यालय पौड़ी में स्तिथ है।

कुमाऊं मंडल के अंतर्गत नैनीताल, पिथौरागढ़, उधम सिंह नगर, अल्मोड़ा, बागेश्वर और चंपावत जैसे जिले आते हैं। वही गढ़वाल मंडल के अंतर्गत उत्तरकाशी, चमोली,देहरादून, पौड़ी गढ़वाल, टिहरी गढ़वाल, रुद्रप्रयाग और हरिद्वार जैसे जिले आते हैं।

उत्तराखंड में घूमने की जगह कौन-कौन सी है ? [Tourist Places in Uttarakhand In Hindi]

भ्रमण की दृष्टि से उत्तराखंड में मौजूद प्रत्येक जिला अनेक मायनों में खास है। वास्तव में देश के इस राज्य में अलग-अलग जिले मौजूद है। नीचे आपको उत्तराखंड के कुछ प्रमुख जिले एवम वहां मौजूद पर्यटन स्थलों के नाम बताए जा रहे हैं।

देहरादून

राजधानी देहरादून चारों तरफ से हरी-भरी पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यहां मौजूद नेशनल एजुकेशन इंस्टीट्यूट और म्यूजियम के लिए काफी ज्यादा प्रसिद्ध है।

जहां पर शिक्षा हेतु देश के अलावा विदेशों से भी छात्र आते हैं। इसके साथ ही यहां पर टूरिज्म को लेकर के सैलानियों के बीच काफी अच्छी छवि देहरादून शहर ने बनाई है।

देहरादून में आप निम्न जगहों को घूम सकते हैं।

  • सहस्त्रधारा |
  • रोबेर्स केव |
  • एफआरआई  देहरादून |
  • टपकेश्वर मंदिर |
  • तपोवन |
  • लच्छीवाला |
  • माइंड्रोलिंग मठ |
  • मालसी डियर पार्क |

हरिद्वार

उत्तराखंड के सबसे प्रमुख धार्मिक तीर्थ स्थलों में हरिद्वार की गिनती होती है। यह एक धार्मिक तीर्थ स्थल है, जहां गंगा नदी में स्नान करने के लिए हर साल लाखों श्रद्धालु आते हैं। खासतौर पर सावन के महीने में यहां पर कांवड़ियों की भारी भीड़ लगी हुई रहती है।

हरिद्वार शहर में प्रवेश करने पर आपको हर तरफ मंदिर ही मंदिर दिखाई देते हैं। हरिद्वार रेलवे स्टेशन से 3 किलोमीटर की दूरी पर हर की पौड़ी मौजूद है जो कि हरिद्वार का सबसे पवित्र स्थल है। यहीं पर हर 12 साल में एक बार महाकुंभ का आयोजन होता है।

हरिद्वार में आप निम्न जगहों पर घूम सकते हैं।

  • हर की पौड़ी |
  • मनसा देवी मंदिर |
  • चंडी देवी मंदिर |
  • चिल्ला वन्यजीव अभ्यारण्य |
  • भारत माता मंदिर  |
  • वैष्णो देवी मंदिर |
  • सप्तऋषि आश्रम |
  • पतंजलि योग पीठ |

नैनीताल

हरी भरी पहाड़ियों के बीच नैनीताल जिले में बहुत सारी झील स्तिथ है। इसलिए इसे झीलों की नगरी कहा जाता है। शहर होने के साथ ही यह हिल स्टेशन भी है, जिसकी खोज वर्ष 1841 में अंग्रेज अधिकारी के द्वारा की गई थी।

यहां की सबसे प्रसिद्ध झील नैना झील है और इसी झील के नाम के ऊपर इस शहर का नाम नैनीताल पड़ा है। यहां पर आ कर के आप बोटिंग का मजा उठा सकते हैं, साथ ही पैराग्लाइडिंग भी कर सकते हैं और प्राकृतिक सुंदरता का आनंद ले सकते हैं।

नैनीताल में आप निम्न स्थानों पर घूम सकते हैं।

  • नैनीताल झील |
  • स्नो व्यू |
  • नैना देवी मंदिर |
  • हनुमान गढ़ी |
  • गुफा उद्यान |
  • नैनी पीक |
  • जी बी पंत हाई एल्टीट्यूड चिड़ियाघर |
  • माल रोड नैनीताल |

उत्तरकाशी

हिंदू पौराणिक कथा के अनुसार उत्तरकाशी बहुत ही पवित्र स्थल है। इस जिले के अंदर आपको काफी हरा भरा वातावरण मिलता है। उत्तराखंड में मौजूद उत्तरकाशी जिले को देव भूमि कहा जाता है।

इसे यमुनोत्री और गंगोत्री तीर्थ यात्रा का प्रवेश द्वार भी कहते हैं, जहां पर बर्फ से लदी हुई पहाड़ियां आपको दिखाई देती है। उत्तरकाशी शहर में लोग पैराग्लाइडिंग, जंपिंग और बोटिंग का मजा लेने के लिए आते हैं।

उत्तरकाशी जिले में कुछ प्रमुख पर्यटन स्थल 

  • डोडीताल झील |
  • नचिकेता झील |
  • डोडीताल दयारा दर्रा ट्रेक |
  • दयारा बुग्याल ट्रेक |
  • शक्ति मंदिर |
  • नेहरू पर्वतारोहण संस्थान |
  • विश्वनाथ मंदिर |
  • कुट्टी देवी मंदिर |
Please follow and like us:

Leave a Comment

Your email address will not be published.