Processor क्या हैं और Processor प्रकार के होते हैं How it Works

5/5 - (1 vote)

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर आज का हमारा टॉपिक है कि Processor क्या हैं, Processor कितने प्रकार के होते हैं, Processor कैसे काम करता हैं , Processor History क्या है इन सभी बातो को हम अपने इस पोस्ट में जानेगे तो पोस्ट को शुरू से अंत तक जरूर पढ़े। आज का दौर कंप्यूटर का दौर है और कंप्यूटर अपने सभी कार्यों को Processor के जरिए ही सही ढंग से कर पाता है। किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जैसे कि मोबाइल, लैपटॉप या कंप्यूटर में RAM, ROM, Battery, Camera Quality के साथ-साथ Processor का सुपर फास्ट होना भी बहुत ही जरूरी है।

Processor क्या हैं

लेकिन हमारे कई दोस्तों को अभी तक यह भी पता नहीं हैं की आखिर ये Processor क्या होता हैं और किसी भी डिवाइस में Processor कैसे काम करता हैं अगर आप भी नहीं जानते हैं तो बिलकुल भी परेशान होने की जरुरत नहीं हैं।

Read: Computer से Instagram Reels Video Upload कैसे करे

Read: Best Professional Computer Courses कौन से है

क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम प्रोसेसर के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करने वाले हैं इसलिए पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक जरूर पढ़े जिससे आपको हमारे मोबाइल, कंप्यूटर या अधिकतर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में होने वाले प्रोसेसर के बारे में अच्छे से जानकारी मिल सके।

Processor क्या हैं (What is Processor in Hindi)

Processor एक इंटीग्रेटेड इलेक्ट्रॉनिक सर्किट होता है जिसे हम CPU, Microprocessor, Central Processor के नाम से भी जानते हैं, Processor कंप्यूटर के मदर बोर्ड में लगा होता है, यह कंप्यूटर का दिल-दिमाग सब कुछ होता है, अगर प्रोसेसर काम करना बंद कर दे तो कंप्यूटर पूरी तरह से बेकार हो जाता है।

प्रोसेसर के जरिए ही कंप्यूटर को कार्यों को करने के दिशा-निर्देश मिलते हैं, यह कंप्यूटर को Arithmetical, Logical, Input, Output व अन्य तरह के निर्देश देता है और यह निर्देश ऑपरेटिंग सिस्टम के जरिए पारित किए जाते हैं।

कंप्यूटर की सारी प्रक्रियाएं प्रोसेसर पर ही आधारित होती हैं, प्रोसेसर का सबसे प्रमुख काम होता है कि वह यूजर के द्वारा दिए जा रहे दिशा-निर्देशों को आउटपुट प्रदान करें और जरूरी सूचना को मेमोरी में स्टोर करके रखे। तो दोस्तों अब हम प्रोसेसर के प्रकार और उनके बारे में विस्तार से जान लेते हैं।

Processor कितने प्रकार के होते हैं 

आइए अब प्रोसेसर कितने प्रकार के होते हैं जान लेते हैं, कंप्यूटर में प्रोसेसर अलग-अलग प्रकार के होते हैं जिनके बारे में अब हम आपको विस्तार से बताने वाले हैं –

  1. Single Core Processor
  2. Dual Core Processor
  3. Quad Core Processor
  4. Hexa Core Processor
  5. Octa Core Processor
  6. Deca Core Processor

1. Single Core Processor

Single Core Processor के अंदर केवल एक Core लगा होता है, यह सबसे पुराने Processors में से एक है, ज्यादातर यह प्रोसेसर पर्सनल और आधिकारिक कंप्यूटर्स में अधिक इस्तेमाल किया जाता है।

अगर आपके कंप्यूटर में यह प्रोसेसर लगा है तो आप एक समय में केवल एक ही कमांड जारी कर सकते हैं, इस प्रोसेसर के जरिए आप मल्टीटास्किंग नहीं कर सकते हैं।

2. Dual Core Processor

Dual Core Processor में दो Cores लगे होते हैं, यानी इसके अंदर एक ही तरह काम करने वाले दो सीपीयू लगे होते हैं, अगर आपके कंप्यूटर मे यह प्रोसेसर लगा हुआ है तो आप मल्टीटास्किंग के कार्य को बड़ी ही आसानी से कर सकते हैं।

3. Quad Core Processor

Quad Core Processor में चार Cores लगे होते हैं, यह प्रोसेसर बहुत ही अधिक सुविधाओं के साथ डिजाइन किया गया होता है, यह प्रोसेसर लगभग Dual Core Processor की तरह ही होता है, यह कोर के बीच के कार्यभार को संभालता है ताकि मल्टीटास्किंग को सरलता से किया जा सके।

4. Hexa Core Processor

Hexa Core Processor में 6 Cores लगे होते हैं, इस प्रोसेसर के जरिए आप कंप्यूटर में मल्टीटास्किंग को बड़ी ही आसानी से कर सकते हैं, यह प्रोसेसर Dual Core और Quad Core की तुलना में बहुत ही शक्तिशाली होता है।

5. Octa Core Processor

Octa Core Processor में 8 Cores लगे होते हैं, यह प्रोसेसर सिंगल, ड्यूल, क्वॉड और हेक्सा सभी प्रोसेसर की तुलना में मल्टीटास्किंग का कार्य अधिक शक्तिशाली से करता है, इस प्रोसेसर को आप मजबूत Processors की श्रेणी में डाल सकते हैं।

6. Deca Core Processor

Deca Core Processor में 10 प्रोसेसर लगे होते हैं, यह सबसे शक्तिशाली प्रोसेसर होता है, यह सभी कार्यों को बहुत ही तेजी से पूरा करता है, इस प्रोसेसर के जरिए आप मल्टीटास्किंग बड़ी ही आसानी से कर सकते हैं।

आज के समय में सबसे एडवांस फीचर्स इसी प्रोसेसर में देखने को मिलते हैं, आजकल ज्यादातर स्मार्ट फोन इसी प्रोसेसर पर आधारित होते हैं।

Processor का इतिहास (Processor History In Hindi)

अब Processor Ka Itihas की बात करें तो दुनिया का सर्वप्रथम Single Core Microprocessor साल 1971 में Intel कंपनी के द्वारा Design किया गया था, इस प्रोसेसर को Intel कंपनी में काम करने वाले Ted Hoff, Federico Faggin और Stanley Mazor ने एक साथ मिलकर बनाया था, इस चिप का नाम Intel 4004 माइक्रोप्रोसेसर रखा गया था।

कई सालों तक बाजार में केवल Single Core Processors ही उपलब्ध थे लेकिन जैसे-जैसे कंप्यूटर की डिमांड बढ़ने लगी वैसे ही कंप्यूटर के डिजाइन के साथ-साथ कंप्यूटर की परफॉर्मेंस को बढ़ाने के लिए कई CPU निर्माता कंपनियों ने Multi Core Processors का निर्माण करना शुरू कर दिया था।

कंप्यूटर में इन Multi Core Processors के जरिए Multi Tasking बड़ी ही आसानी से की जा सकती थी, वहीं आज के समय में बाजार में कई Advance Processors देखने को मिल जाते हैं जो कंप्यूटर्स की Performance को बहुत ही ज्यादा मात्रा में बढ़ा देते हैं।

Processor कैसे काम करता हैं

Processor कंप्यूटर के RAM से जुड़ा हुआ होता है, और RAM का कंप्यूटर की Hard Disk से कनेक्शन रहता है, कंप्यूटर को इनपुट डिवाइस के जरिए जब भी दिशा-निर्देश मिलते हैं या कोई सूचना प्रोसेस होती है तो सबसे पहले प्राप्त हो रहा डाटा Hard Disk के जरिए RAM तक पहुंचता है और उसके बाद Processor उन सभी दिशा-निर्देशों या सूचनाओं को एक-एक करके Decode करता है।

आप तो जानते ही होंगे कि कंप्यूटर सिर्फ Binary भाषा को ही समझ सकता है, यही कारण है कि Processor सबसे पहले दिशा-निर्देशों को Binary Language में बदलता है, इससे कंप्यूटर में वह सूचना बड़ी ही आसानी से Decode हो जाती है।

जब प्रोसेसर डिकोड की प्रक्रिया को पूरा कर लेता है तो सूचना को Action के लिए Arithmetic Logic Unit (ALU) के पास भेजा जाता है, आखिर में इन सभी स्टेप्स को पूरा करने के बाद जब प्रोसेसर अपना सम्पूर्ण काम पूरा कर लेता है तो Data को स्टोर यानी सेव करने के लिए वापस Memory में भेजा जाता है।

और फिर यूजर जिस डाटा को देना चाहता है उसे प्रोसेस करके आउटपुट प्रदान कर देता है, आपको यह प्रोसेस बहुत ही जटिल लग रहा होगा लेकिन प्रोसेसर इस प्रक्रिया को बहुत ही कम समय यानी कुछ नैनो सेकेंड्स में ही पूरा कर लेता है, कंप्यूटर को सही तरीके से काम करने में प्रोसेसर की एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

Processor Core क्या होता हैं

कंप्यूटर में Processor कंप्यूटर का दिमाग होता है और प्रोसेसर का दिमाग Core होता है, Core की सहायता से ही प्रोसेसर इनपुट डाटा को अच्छे से प्रोसेस करके आउटपुट के रूप में बदल पाता है, Processor की स्पीड Processor Core पर ही निर्भर करती है, कंप्यूटर कितना शक्तिशाली है इस बात का अंदाजा प्रोसेसर कोर से ही लगाया जाता है।

Processor में जितने अधिक Core होंगे कंप्यूटर के कार्य करने की क्षमता भी उतनी ही ज्यादा होगी, अगर कंप्यूटर में एक ही प्रोसेसर यानी Single Core होगा तो वह एक समय में केवल एक ही काम सही तरह से कर पाएगा।

और अगर कंप्यूटर में एक से ज्यादा कोर लगे होंगे तो आपका एक कंप्यूटर एक से अधिक कार्यों को फुल स्पीड के साथ बड़ी ही आसानी से कर पाएगा।

आजकल लोगों के पास समय की बहुत ही कमी है और वर्तमान समय में तो कार्यों को जल्दी से करने की डिमांड भी बहुत ही ज्यादा बढ़ रही है, इसी चीज को ध्यान में रखते हुए आजकल Processors में Multiple Cores का इस्तेमाल होने लगा है। इससे यह फायदा होता है कि कंप्यूटर एक समय में फुल स्पीड के साथ बड़ी ही आसानी से कई कार्यों को पूरा कर देता है।

Conclusion

तो दोस्तों कैसा लगा आपको हमारा यह आर्टिकल, इस आर्टिकल के जरिए हमने जाना कि Processor क्या है और Processor कैसे काम करता हैं अगर आपको इस आर्टिकल में कुछ समझ नहीं आया है या आप हमें कोई सुझाव देना चाहते हैं तो आप आर्टिकल के नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करके अपनी राय शेयर कर सकते हैं, हम आपके कमेंट का जवाब जल्द से जल्द देंगे।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल “प्रोसेसर क्या है / Processor Meaning In Hindi” अच्छा लगा है, तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करिएगा ताकि वह भी इस महत्वपूर्ण जानकारी का फायदा उठा सकें।

Please follow and like us:

Leave a Comment

Your email address will not be published.