Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022 – आवेदन प्रक्रिया, फॉर्म और लाभ

हेलो दोस्तों स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर आज का हमारा टॉपिक है की Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022 क्या है – आवेदन प्रक्रिया, फॉर्म और लाभ के बारे में पूरी जानकारी हम आपको देने वाले है। UP Bal Seva Yojana 2022 Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022: उत्तर प्रदेश सरकार राज्य वासियों के लिए कई महत्वपूर्ण और महत्वकांक्षी योजनाएं हमेशा लाते रहते हैं जिससे कि यूपी के लोगों का भला हो सके और इसी कड़ी में ” मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना” को लाया गया है जिसके तहत अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता और आवासीय सुविधा इत्यादि उपलब्ध कराया जाता है। और इस योजना का लाभ खासतौर पर उन अनाथ बच्चों या बच्चियों को दिया जाता है जिनकी अभिभावकों की मृत्यु कोविड-19 बीमारी के कारण हो गया है।

Mukhyamantri Bal Seva Yojana

तो ऐसे में अगर आपके आस पास भी कोई अनाथ बच्चा है जिनकी माता पिता की मृत्यु कोविड-19 के कारण हो गयी है, और उनके पालन पोषण के लिए कोई और व्यक्ति नहीं है तो ऐसे परिस्थिति में आपको उन अनाथ बच्चों का रजिस्ट्रेशन उत्तर प्रदेश सरकार के ‘बाल सेवा योजना (Bal Seva Yojana 2022) के तहत जरूर करा देना चाहिए। जिससे कि उन बच्चों का अच्छे से पालन पोषण सरकार द्वारा किया जा सके।

Read: MPIN Kya Hota Hai एमपिन कैसे बनाये करें

तो अगर आपके आस पास भी कोई अनाथ बच्चा है और उसका रजिस्ट्रेशन इस योजना के तहत कराना चाहते हैं लेकिन आपको इसकी प्रक्रिया के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है तो आप इस लेख को अंत तक पढ़ सकते हैं और इस योजना के रजिस्ट्रेशन से लेकर, इसके तहत मिलने वाले लाभ तक के बारे में सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022 के बारे में।

Mukhyamantri Bal Seva Yojana क्या है, 

इस बाल सेवा योजना (Bal Seva Yojana 2022) का शुभारंभ 22 जुलाई 2021 को उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा किया गया है। और यह योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाया जा रहा है एक ऐसी महत्वकांक्षी योजना है जिसके तहत अनाथ बच्चों के पढ़ाई से लेकर शादी तक की पूरी खर्च उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा निर्वहन किया जाता है, और इस योजना के तहत केवल उन्हीं अनाथ बच्चों का सरकार द्वारा आर्थिक मदद किया जाता है जिनकी माता पिता की मृत्यु कोविड-19 बीमारी के कारण हुआ है।

उत्तर प्रदेश बाल सेवा योजना के तहत मिलने वाले लाभ

बाल सेवा योजना (Bal Seva Yojana 2022) के अंतर्गत लाभार्थियों को नीचे दिए गए निम्नलिखित प्रकार के लाभ प्रदान किया जाता है।

  • इस योजना का लाभ केवल उन्हीं अनाथ बच्चों को दिया जाता है जिनकी अभिभावकों की मृत्यु कोविड-19 बीमारी के कारण हो गया है।
  • और इस बाल सेवा योजना के तहत अनाथ बच्चों के पढ़ाई से लेकर शादी तक का सभी खर्च कर निर्वाहन सरकार द्वारा किया जाता है।
  • और इस बाल सेवा योजना के तहत अनाथ बच्चों के पालन पोषण के लिए ₹4000 की आर्थिक सहयोग राशि प्रदान की जाती है। और यह राशि उन्हें 18 वर्ष की उम्र पूरी होने तक दिया जाता है।
  • इसके अलावा जिन बच्चों की उम्र 10 वर्ष से कम हो रहा है उन्हें रहने और खाने की आवासीय सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है।
  • वहीं जिन बच्चियों की उम्र 18 वर्ष से अधिक हो गया है और उनकी माता पिता की मृत्यु कोविड-19 के कारण हो गया था तो उन्हें भी सरकार शादी के लिए ₹1लाख 1 हज़ार की आर्थिक सहयोग राशि प्रदान करती है।
  • और जो अनाथ बच्चा 10वीं या 12वीं कक्षा में पढ़ रहा है उसके सरकार द्वारा टेबलेट लैपटॉप इत्यादि की भी सुविधा उपलब्ध कराया जाएगा।

नोट: इस Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022 के अंतर्गत नाबालिग अनाथ बालिकाओं को कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय और राजकीय बाल गृह अटल आवासीय विद्यालयों के तहत रहने खाने की समुचित सुविधा उपलब्ध कराया जाता है।

बाल सेवा योजना (Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022) से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

योजना का नाम बाल सेवा योजना ( Bal Seva Yojana 2022)
सरकार उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के अनाथ बच्चे
मुख्य उद्देश्य अनाथ बच्चे को रहने, खाने और पढ़ने का समुचित व्यवस्था करना।
आरम्भ तिथि 22 जुलाई 2021
बाल सेवा योजना दस्तावेज आधार कार्ड (Aadhar Card)
निवास प्रमाण पत्र
जन्म प्रमाण पत्र
अभिभावकों के मृत्यु का प्रमाण
ऑफिसियल वेबसाइट और पोर्टल अभी तक नहीं लांच किया गया है.

राजकीय बाल गृह मे रहने का व्यवस्था

वहीं जिन बच्चों का आशय और पालन पोषण का कोई ठिकाना नहीं है तो उन्हें इस योजना के तहत सरकार द्वारा राजकीय बाल गृह में रहने का आवासीय सुविधा भी उपलब्ध कराया जाता है, और पुरे उत्तर प्रदेश के केवल 5 जिले ‘मथुरा लखनऊ ,प्रयागराज ,आगरा एवं रामपुर’ में ही राजकीय बालगृह की व्यवस्था है। जहां उन बच्चों को रहने के लिए भेजा जाता है।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 के मुख्य उद्देश्य

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किए गए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश राज्य में कोविड-19 बीमारी के कारण हुए अनाथ बच्चों को आर्थिक सहयोग राशि प्रदान करना है, और साथ में उन बच्चों के रहने खाने इत्यादि की भी उचित व्यवस्था करना है जिससे कि उन्हें ज्यादा कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़े।

क्योंकि जैसा कि आप सभी जानते हैं कि इस कोरोनावायरस बीमारी के कारण कई लोगों ने अपने अभिभावकों को खोया है जिनमें से कुछ 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चे और बच्चियां भी हैं। और उनके माता पिता की मृत्यु के बाद उन्हें रहने खाने का कोई उचित व्यवस्था नहीं है इसी बात को ध्यान में रखते हुए इस योजना की शुरुआत किया गया है।

बाल सेवा योजना (Bal Seva Yojana) के तहत दी जाने वाली आर्थिक सहायता राशि का विवरण।

  • इस योजना के तहत जिन बच्चों का उम्र 10 वर्ष से कम हो रहा है उन्हें वयस्क यानि की 18 वर्ष के होने तक सरकार द्वारा ₹4000 प्रति महीना के सहयोग राशि प्रदान किया जाता है।
  • इसके अलावा जिन बेटियों की उम्र 18 वर्ष हो गया है उन्हें इस योजना के तहत शादी के लिए ₹1 लाख1 हज़ार की सहयोग राशि प्रदान किया जाता है।
  • और इन सबके अलावा उन सभी अनाथ बच्चों के पढ़ाई से लेकर शादी तक के खर्च का भी निर्वाहन सरकार द्वारा किया जाता है।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के लिए पात्रता मापदंड

वहीं मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत लाभ केवल वहीं अनाथ बच्चे प्राप्त कर पाएंगे जो सरकार द्वारा तय किए गए पात्रता मापदंडों पर खरे उतरते हैं। तो चलिए जानते हैं इस योजना के लिए सरकार द्वारा तय किए गए पात्रता मापदंड को।

  • इस योजना का लाभ केवल उत्तर प्रदेश के मूल निवासी बच्चों और बच्चियों को दिया जाएगा।
  • वही इस योजना का लाभ प्राप्त केवल उन्हें अनाथ बच्चों कर पाएंगे जिनके अभिभावकों की मृत्यु कोविड-19 बीमारी के कारण हो गया है।
  • इसके अलावा अगर कोई बच्चा के केवल पिता के मृत्यु हो गया है और उनकी माता जीवित हैं लेकिन पूरी तरह कमाने में असमर्थ है तो ऐसे बच्चों को भी इस योजना के तहत लाभ प्राप्त होगा।
  • और इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए उन सभी अनाथ बच्चों को अभिभावकों के मृत्यु के 2 साल के भीतर आवेदन करना जरूरी होता है।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना (Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022) के तहत रजिस्ट्रेशन कराने के लिए आपको पास नीचे दिए गए निम्नलिखित दस्तावेजों का होना बहुत जरूरत होगा उसके बाद ही आप का रजिस्ट्रेशन इस योजना के लिए किया जाएगा।

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • अभिभावकों के मृत्यु का प्रमाण
  • बच्चे का अपने माता पिता के साथ पुराने फोटोग्राफ
  • विवाह का कार्ड (अगर आपकी उम्र 18 वर्ष से ज्यादा हो रहा है, और आपकी शादी हो रहा है तो ऐसी परिस्थिति में)

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना 2022 के लिए आवेदन कैसे करें, पूरी प्रक्रिया

अगर आप भी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना (Bal Seva Yojana) के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको नीचे दिए गए प्रोसेस को फॉलो करने की जरूरत है।

Bal Seva Yojana Registration process 2022

  • इसके लिए सबसे पहले आपको अपने जिले या तहसील के जिला प्रोबेशन अधिकारी के कार्यालय में जाने की जरूरत है। अगर आप सारी क्षेत्रों से ताल्लुक रखते हैं।
  • वहीं अगर आप ग्रामीण इलाके से ताल्लुक रखते हैं तो इसके आवेदन फॉर्म पाने के लिए सबसे पहले आपको ग्राम पंचायत पदाधिकारी या विकासखंड पदाधिकारी के कार्यालय में जाने की जरूरत है।
  • और उसके बाद वहां से “बाल सेवा योजना फॉर्म (Mukhyamantri Bal Seva Yojana form)” प्राप्त करने के बाद उसमें मांगे गई सभी जानकारी को सावधानीपूर्वक सही से भर देना है।
  • और उसके बाद उसमें मांगे गए सभी जरूरी दस्तावेजों की फोटोकॉपी को भी साथ में अटैच कर देना है।
  • और उसके बाद उस उस आवेदन फॉर्म को आपने जिस कार्यालय से लिया था वही जाकर के फिर से जमा कर देना है, और उसके बाद जैसे ही आपके द्वारा दी गई जानकारी का सत्यापन होगा उसके बाद आपको इस योजना के तहत लाभ प्राप्त होना शुरू हो जाएगा।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना Online आवेदन कैसे करें?

वहीं अगर आप उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे बाल सेवा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन के लिए कोई भी Bal Seva Yojana portal अभी तक यूपी सरकार द्वारा लॉन्च नहीं किया गया है।

जरूरी सुचना: उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना(Bal Seva Yojana) का लाभ वे सभी बच्चे भी उठा सकते है जिनके केवल पिता या अन्य घर के मुखिया जिनके पैसा कमाने से आपका पालन पोषण होता था उनकी कोविड-19 के कारण मृत्यु होने फिर भी आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।


Conclusion

आज के इस लेख में हमने जाना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाए जा रहे बहुत ही महत्वकांक्षी योजना ‘Bal Seva Yojana 2022‘ के बारे में, और इस योजना के तहत मिलने वाले लाभ और आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में।

तो ऐसे में आशा करता है कि इस लेख को पढ़ने के बाद आपको मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल गया होगा, बाकी ऐसे ही केंद्र और राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही अन्य योजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए bloggingmoney.in कों जरूर चेकआउट करें। धन्यवाद

FAQ

प्रश्न. मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के आवेदन फॉर्म कैसे मिलेगा?

उत्तर: इस योजना के आवेदन फॉर्म आप अपने नजदीकी प्रोबेशन अधिकारी, ग्राम पंचायत पदाधिकारी या विकासखंड पदाधिकारी के कार्यालय मे जा करके प्राप्त कर सकते हैं।

प्रश्न. बाल सेवा योजना की शुरुआत कब हुई है?

उत्तर: उत्तर प्रदेश बाल सेवा योजना की शुरुआत 31 मई 2021 को उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा किया गया है। और इसके तहत कोविड-19 बीमारी के कारण हुए अनाथ बच्चों को सरकार सहयोग राशि प्रदान करती है।

प्रश्न. बाल सेवा योजना उत्तर प्रदेश क्या है?

उत्तर: बाल सेवा योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाया जा रहा है एक ऐसी सरकारी योजना है जिसके तहत उत्तर प्रदेश के अनाथ बच्चों को सरकार द्वारा आर्थिक सहयोग राशि से लेकर उनके पढ़ाई और शादी तक के खर्च का निर्वहन किया जाता है।

प्रश्न. क्या बाल सेवा योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं?

उत्तर: मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया अभी तक उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू नहीं किया गया है तो ऐसी स्थिति में आपको इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए ऑफलाइन आवेदन ही करना पड़ेगा।

Please follow and like us:

1 thought on “Mukhyamantri Bal Seva Yojana 2022 – आवेदन प्रक्रिया, फॉर्म और लाभ”

Leave a Comment

Your email address will not be published.